एक नवाब साहब भोपाल  से अपने भतीजे के निकाह के लिए मुम्बई पहुचे..

नवाब साहब दो दिन से देख रहे थे कि रोज दावत में उनको खाने मे अंडे ही दिए गए..
..सो तीसरे दिन उनका सब्र टूट गया और उन्होंने अपने समधी से पूछ ही लिया..:
.
..भाई जान, ये अंडे तो अपनी जगह ठीक हैं, पर इनके वालिद कहाँ हैं..!
...उनसे भी मुलाक़ात कराईये..!!

*ये होती है भोपाली तहजीब*

😋😃😄😁😆😅😜